धान की सीधी बिजाई|Direct Sowing Of Paddy

By Kheti jankari

Updated on:

धान की सीधी बिजाई

धान की सीधी बजाई ( Direct Sowing Of Paddy)करके किसान भाई अपना समय, पैसा और पानी बचा सकते है। जहां धान की सीधी बुआई में 20% तक पानी बचत होती है वहीं इसमें श्रम भी कम लगता है। धान की परंपरागत विधि में पहले धान की पोध तैयार की जाती है और उसके बाद उसे खेत में लगाया जाता है जिससे किसानों का खर्च बाढ़ जाता है। और पानी की भी अधिक आवश्यकता पड़ती है। लेकिन धान की सीधी बुआई एक ऐसी तकनीक है जिसमें किसान भाई धान के बीज को सीधा अपने खेत में बजाई कर देते है।

धान की सीधी बुआई के प्रकार

धान की सीधी बुआई हम दो प्रकार से कर सकते है पहले तो किसान भाई सूखे में धान की बजाई करके उसमें तुरंत बाद पानी लगा दे। या फिर आप गीले खेत में (खेत में पानी लगाकर) पलेवा करके भी धान की बजाई कर सकते है। इस विधि में आपको बिजाई के 15 से 20 दिन बाद पानी लगाना है ।ये आपकी मिट्टी पर निर्भर करता है की पानी कितने दिन बाद लगाना है। कुछ खेत में पानी जल्दी भी लगाना पड़ता सकता है।

खेत की तैयारी

धान की बुआई करने से पूर्व किसान भाई जांच ले के आपका खेत समतल है या नहीं। अगर आपका खेत समतल नही है तो आप लेवलर की सहायता से खेत को समतल करा ले जिससे पूरे खेत में एक सार पानी लगे। इससे पानी की बचत भी होगी। और बीज का जमाव भी अधिक होगा। खेत की बजाई करते समय किसान भाई जांच ले की खेत में कोई खरपतवार ना उगे हो। अगर आपको खेत में खरपतवार दिखाई दे तो उसकी अच्छे से जुताई करे या फिर राउंडअप की सहयता से उन्हे नष्ट कर दे।

धान की सीधी बिजाई में बीज दर

धान की सीधी बजाई में 5 से 6kg बीज प्रति एकड़ प्रयोग करना है। धान बुआई की इस पद्धति में किसान भाई बीज उपचार जरूर करे। बीज उपचार के लिए आप फंगिसाइड (कार्बेंडाजिम) और इंस्टेसाइड ( थियामेथोक्समे 30%) का प्रयोग करें।
इसमें आप किसी भी वैरायटी की बजाई कर सकते है किसान भाई इसमें बासमती, परमल या फिर हाइब्रिड धान की बुआई कर सकते है।

धान की सीधी बजाई करने के तरीके

जीरो ड्रिल मशीन द्वारा

किसान भाई जीरो ड्रिल मशीन की मदद से धान की सीधी बजाई कर सकते है। धान की बजाई के लिए जीरो ड्रिल मशीन अनके कंपनियों द्वारा बनाई जाती हैं। आपको अपने खेत को समतल करके उसकी अच्छे से जुताई करके और उसमे पाटा लगा कर ड्रिल से खेत की बजाई कराए।

छींटा विधि द्वारा

अगर किसान भाइयों को जीरो ड्रिल मशीन उपलब्ध नहीं हो रही तो आप बिना मशीन के भी अपनी धान की बजाई कर सकते है आप छींटा से धान के बीज बुआई करके उसको काल्टीवेटर की सहायता से उसकी जुताई करके ऊपर पाटा लगा दे। इससे भी आपके खेत में अच्छा जमाव निकल कर आएगा।

धान की सीधी बजाई में खरपतवार नियंत्रण

खरपतवार नियंत्रण धान की सीधी बजाई में मुख्या समस्या हैं लेकिन रासायनिक दवाओं के प्रयोग से धान की सीधी बजाई में खरपतवार नियंत्रण आसानी से किया जा सकता हैं। इसके लिए आपको बजाई के 48 घंटे तक 2लीटर पेन्डीमेथेलीन 30%( ब्रांड नाम– दोस्त, स्टैम्प, सवाल पेंडी) का स्प्रे प्रति एकड़ करना है। अगर खेत में मोथा घास ज्यादा मात्रा में उगता है तो किसान भाई 80g Pyrazosulfuron Ethyl 10% WP( ब्रांड नाम– साथी, डाल) प्रति एकड़ 2लीटर पेन्डीमेथेलीन के साथ मिला कर स्प्रे करे। अगर आप पेन्डीमेथेलीन 38.7% का प्रयोग करते है तो इसकी मात्रा 1.5लीटर प्रति एकड़ लेनी है। इससे आपके खेत में 70% से 80% तक खरपतवार उंगेगे ही नही। और बाद में जो खरपतवार उगेगे तब Bispyribac Sodium10% SC (ब्रांड नाम– नोमानीगोल्ड) का प्रयोग कर सकते है।

धान की सीधी बजाई का समय

धान की सीधी बिजाई करने के लिए 20 मई से 20 जून तक उपयुक्त समय माना गया है। वैसे आप जून के पूरे महीने आप बजाई कर सकते है इसके लिए आपको सही बीज का प्रयोग करना जरूरी है अगर आप धान की अगेती बिजाई करते है तो ज्यादा समय लेने वाले बीज का चयन करें। अगर आप लेट बजाई करते है तो कम समय में पकने वाले बीज का चुनाव करना चाहिए।

धान की सीधी बुआई में खाद प्रबंधन

धान की सीधी बुआई में 30kg DAP या 50kg SSP + 20kg UREA का प्रयोग बुआई के समय करना चाहिए। जिन किसान भाइयों के यहां दीमक की समस्या है वो इसके साथ Chlorpyriphos 20% EC की 500ml मात्रा का प्रति एकड़ प्रयोग कर सकते हैं।

धान की सीधी बुआई पानी की समस्या को देखते हुए किसानों के लिए वरदान साबित होगी। जो किसान भाई धान की सीधी बजाई करते है उनको इसके फायदे के बारे में पता होगा लेकिन जिस किसान ने अभी तक इस विधि से धान की बजाई नही की वो इस बार अपने खेत कुछ भाग पर धान की सीधी बजाई जरूर करे। अगरआपके धान की सीधी बजाई के बारे कुछ सवाल है तो आप मुझे कॉमेंट में पूछ सकते है।

ये भी पढ़े– धान की सीधी बजाई योजना2023|सीधी बजाई पर 4000रु प्रोत्साहन राशि|मेरा पानी मेरी विरासत योजना2023

धान की टॉप किस्में जिन्हें किसान पसंद करते है–(2023) (Top (best)Varieties of Paddy that are preferred by the farmers)

गन्ने में ट्राइकों कार्ड का प्रयोग| Trico Card Uses In Sugarcane (ट्राइकोग्रामा मक्खी)

Kheti jankari

खेती जानकारी एक ऐसी वेबसाइट है। जिसमें आपको कृषि से जुड़ी जानकारी दी जाती है। यहां आप कृषि, पशुपालन और कृषि यंत्रों से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

8 thoughts on “धान की सीधी बिजाई|Direct Sowing Of Paddy”

    • अगर आप सूखे खेत में बोते हो तो तुरंत पानी लगा देना है।
      पेलवा करके 15 से 20 दिन बाद पानी लगाना है आपकी मिट्टी पे डेपंड करता हैं।
      दोनो तरह से डाल सकते हो। सूखे या बिघागो कर।

      Reply

Leave a Comment