लहसुन में लगने वाले सबसे ख़तरनाक फफूंदी जनित रोग:लहसुन की ऊपर की पत्तियों का सूखना,कैसे करें रोकथाम:सम्पूर्ण जानें

By Kheti jankari

Published on:

लहसुन में लगने वाले सबसे ख़तरनाक फफूंदी जनित रोग

लहसुन में लगने वाले सबसे ख़तरनाक फफूंदी जनित रोग। लहसुन में डाउनी मिल्ड्यू रोग के लक्षण। लहसुन में डाउनी मिल्ड्यू रोग की रोकथाम के उपाय। लहसुन में लगने वाले मुख्या रोग। लहसुन की ऊपर की पत्तियों का सूखना। लहसुन की खेती। drying of upper leaves of garlic.

लहसुन में पीलापन:पौधे के पत्ते ऊपर से सूखने का मुख्या कारण, कृषि जानकार ने बताया ये तरीका

किसान साथियों नमस्कार, लहसुन में वैसे तो कई प्रकार के फफूंदी जनक रोग लगते हैं लेकिन इनमें से सबसे ज्यादा खतरनाक डाउनी मिल्ड्यू रोग है। यह एक फफूंदी जनक बीमारी है। लगभग सभी क्षेत्रों में यह बीमारी हमें देखने को मिलती है। इस बीमारी से किसानों को काफी नुकसान होता है। जब तापमान कम होता है, और लहसुन की पत्ती गीली रहती है। तो यह रोग अधिक मात्रा में फैलता है। इस लेख में आगे इस बीमारी के लक्षण और इसके इलाज के बारे में संपूर्ण जानें।

लहसुन में डाउनी मिल्ड्यू रोग के लक्षण

डाउनी मिल्ड्यू रोग की पहचान करना आसान है। इस रोग में लहसुन के नीचे की पत्तियां हल्की हरे रंग की होना शुरू हो जाती हैं, और बाद में यह पीली होकर धीरे-धीरे सूखने लगते हैं। कई बार इस रोग में लहसुन की ऊपर की नोक की पत्तियां सूखकर लटकने लगती है। इस रोग में सुबह के समय नीचे की पत्ती पर फंगस दिखाई देती है।

गेहूं में सब कुछ डालने के बाद भी कल्ले नहीं बने:ये है मुख्य कारण, डालें ये जरूरी खाद

लहसुन में डाउनी मिल्ड्यू रोग की रोकथाम के उपाय

लघुशन की फसल आमतौर पर 12 से 14 पट्टी की होने पर पक जाती है। इसलिए लहसुन में हमें यह रोग दिखते ही तुरंत स्प्रे कर देना चाहिए। क्योंकि अगर इस रोग ने नीचे की दो से तीन पत्तियां खराब हो जाती है। तो इससे आपकी पैदावार पर प्रभाव पड़ता है। इस रोग की रोकथाम के लिए आप नीचे दवाई दिए गए कुछ दवाइयां का इस्तेमाल कर सकते हैं।

नोट-किसान साथियों अगर आपको लहसुन की फसल में अन्य कोई रस चूसक किट देखने को मिलता है। तो आप इसमें इन फंगीसाइड के साथ कोई कीटनाशक का प्रयोग भी कर सकते हैं।

आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी कृपया कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं और दूसरे किसानों तक भी इसे शेयर करें धन्यवाद

FAQ

क्या पीली हुई पत्ती फिर से हरी हो सकती है?
अगर पत्ती पूरी तरह से सुखी नहीं है। तो वो हरी हो सकती है। पूरी तरह से सुखी हुई पत्ती हरी नहीं हो सकती।

ये भी पढ़ें – आलू में झुलसा रोग की आने से पहले ही करें पहचान आपनाएँ ये आसान तरीका

सरसों में सफ़ेद रतुआ रोग की पहचान:समय पर करें रोकथाम, नुक्सान से बचें

पोका बोईंग और रेड रॉट जैसे रोगों को सहने की शक्ति रखती है गन्ने की यह अर्ली किस्म

शिमला मिर्च की उन्नत खेती कैसे करें

Kheti jankari

खेती जानकारी एक ऐसी वेबसाइट है। जिसमें आपको कृषि से जुड़ी जानकारी दी जाती है। यहां आप कृषि, पशुपालन और कृषि यंत्रों से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Leave a Comment