पंजाब के विज्ञानिकों द्वारा तैयार की गयी मूंग किस्म:Moong variety of Punjab Agricultural University

By Kheti jankari

Published on:

पंजाब के विज्ञानिकों द्वारा तैयार की गयी मूंग किस्म

पंजाब के विज्ञानिकों द्वारा तैयार की गयी मूंग किस्म। मूंग की टॉप किस्म। मूंग की खेती। मूंग की अगेती किस्म। एसएमएल-668 मूंग किस्म की विशेषताएं। एसएमएल-668 मूंग किस्म का बजाई समय। एसएमएल-668 मूंग किस्म की औसत पैदावार। Moong variety of Punjab Agricultural University.

चमकदार और मोटे दाने वाली श्रीराम सीड्स की इस मूंग किस्म की करें बजाई:मिलेगी अधिक पैदावार

मूंग की बिजाई गर्मी और बरसात के मौसम में आमतौर पर की जाती है। मार्च से लेकर जुलाई तक आप इसकी बिजाई कर सकते हैं। मूंग एक ऐसी फसल है, जो अत्यधिक सुख और अत्यधिक पानी को भी सहन कर सकती है। मूंग की खेती के लिए जल निकास युक्त मिट्टी सबसे उपयुक्त रहती है। यदि आप मूंग की खेती करना चाहते हैं, तो आपको ऐसी खेत का चुनाव करना चाहिए। जिसमें पानी खड़ा ना हो। मूंग की अलग-अलग प्रकार की किस्म आपको बाजार में देखने को मिलती हैं। मैं आपको मूंग की एक ऐसी किस्म के बारे में बताऊंगा। जिसकी बाजार में बहुत ज्यादा डिमांड है। यह इसको किसान काफी ज्यादा पसंद करते हैं। यह किस्म एसएमएल-668 के नाम से जानी जाती है। इस मूंग किस्म के बारे में संपूर्ण जानकारी के लिए पूरा लेख पढ़ें।

एसएमएल-668 मूंग किस्म की विशेषताएं

एसएमएल-668 पंजाब कृषि विश्वविद्यालय लुधियाना द्वारा वर्ष 2008 में बनाई गयी थी। इस किस्म की बिजाई खरीफ और जायद दोनों मौसमों में की जा सकती है। इस मूंग की किस्म में पीला मोजैक वायरस, झुलसा रोग और पत्ती धब्बा रोग नहीं लगता। इन रोगों के प्रति यह किस्म सहनशील है। इसके दाने चमकदार और गहरे हरे रंग के होते हैं। यह मूंग किस्म सूखा सहन करने की क्षमता भी रखती है। मूंग की इस किस्म के 1000 दोनों का वजन 58 से 63 ग्राम तक होता है। इसकी एक फली में 10 से 11 दाने पाए जाते हैं। मूंग की इस किस्म की 80 से 50 सेंटीमीटर तक लंबाई होती है।

भारतीय दलहन अनुसंधान संस्थान द्वारा तैयार की गई मूंग की सबसे अच्छी किस्म

एसएमएल-668 मूंग किस्म का बजाई समय

मूंग की इस किस्म की बिजाई आप 1 मार्च से लेकर 15 जुलाई तक कर सकते है।

एसएमएल-668 मूंग किस्म की औसत पैदावार

मूंग की यह किस्म 7 से 8 क्वांटल प्रति एकड़ तक पैदावार आसानी से दे देती है। यदि आप इसकी वैज्ञानिक ढंग से खेती करते हैं, तो आप अधिक पैदावार भी ले सकते हैं।

एसएमएल-668 मूंग किस्म का पकाने का समय

मूंग की यह किस्म पकाने में लगभग 60 से 70 दिन का समय लेती है। यह समय गर्मी और बरसात के मौसम में 5 से 10 दिन ऊपर अलग-अलग हो सकता है।

एसएमएल-668 मूंग किस्म की बीज मात्रा

मूंग की इस किस्म का 8 से 10 किलोग्राम बीज प्रति एकड़ प्रयोग किया जाता है। आप गर्मी के मौसम में 1 से 2 किलोग्राम बीज अधिक भी ले सकते हैं।

किसान साथियों अगर आपने इस मूंग किस्म की पहले बिजाई की है। आपको इसकी कैसी पैदावार निकाल कर दी है। कृपया कमेंट के माध्यम से हमें जरूर बताएं और अगर आपको मेरा यह लेख अच्छा लगा। तो इसे आगे दूसरे किसानों तक भी अवश्य शेयर करें। धन्यवाद!

ये भी पढ़ें- मूंग की 14 क्वांटल तक पैदावार देने वाली किस्म:अधिक पैदावार वाली मूंग की एक मात्र किस्म

HAU द्वारा तैयार की गई मूंग की सबसे जबरदस्त किस्म:पीलिया रोग बिलकुल नहीं

50 दिन में तैयार होने वाली मूंग की टॉप किस्म

मूंग की उन्नत खेती:बजाई समय, बीज मात्रा सम्पूर्ण

Kheti jankari

खेती जानकारी एक ऐसी वेबसाइट है। जिसमें आपको कृषि से जुड़ी जानकारी दी जाती है। यहां आप कृषि, पशुपालन और कृषि यंत्रों से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Leave a Comment