गेहूं में अड़ियल मंडुसी (गुली डंडा) को भी जड़ से ख़त्म करने की क्षमता रखती है यह खास खरपतवार नाशक दवाई(2024):herbicide to kill weeds in wheat

By Kheti jankari

Updated on:

गेहूं में अड़ियल मंडुसी (गुली डंडा) को भी जड़ से ख़त्म करने की क्षमता रखती है यह खास खरपतवार नाशक दवाई

गेहूं में अड़ियल मंडुसी (गुली डंडा) को भी जड़ से ख़त्म करने की क्षमता रखती है यह खास खरपतवार नाशक दवाई, इस खरपतवार नासक का प्रयोग करके आप गेहूं में 5 पत्ती तक की मंडुसी को आसानी मर सकते है। वैसे तो किसान भाई गेहूं बजाई के समय मंडुसी को उगने से रोकने वाली दवाई का इस्तेमाल भी कर सकते है।

गेहूं में बिजाई के तुरंत बाद खरपतवारों को उगने से रोकने वाली इस सस्ती दवाई का इस्तेमाल करें

गेहूं की बिजाई लगभग सभी किसानों ने पूरी कर ली है। कुछ किसान गन्ने की फसल काटकर गेहूं की लेट बिजाई कर रहे हैं। जिन किसानों ने गेहूं की बिजाई अक्टूबर में कर दी थी। उनकी गेहूं अब 25 से 30 दिन की हो गई है। अब उसमें आपको खरपतवार भी दिखने लगे होंगे। गेहूं में मुख्य रूप से पालक, मंडूसी (गुली डंडा), जंगली जाई, गजर घास और बथुआ आदि खरपतवार पाये जाते हैं। इन खरपतवारों में सबसे अधिक परेशान मंडुसी (गुली डंडा) करती है। जो गेहूं में अधिक मात्रा में जमती है, और इसको मरने के लिए किसानों को अधिक मात्रा में दवाइयां का इस्तेमाल करना पड़ता है। मंडुसी (गुली डंडा) को गेहूं का मामा भी बोला जाता है। क्यूंकि ये देखने में गेहूं जैसी ही लगती है। अड़ियल मंडुसी (गुली डंडा) मरना किसान के लिए बड़ा मुश्किल होता है। कई बार मंडुसी (गुली डंडा) खत्म करने के चक्कर में किसान अपनी गेहूं की फसल को भी नष्ट कर लेते है। इसलिए गेहूं में मंडुसी की दवाई कृषि विज्ञानक की सलाह से ही डालें।

गेहूं में खरपतवारों को मारने वाली मुख्य दवाई

बाजार में आपको अनेक प्रकार के खरपतवारों का नष्ट करने वाले दवाइयां मिल जाएगी। लेकिन कुछ दवाइयां छोटे मंडुसी (गुली डंडा) पर अधिक मात्रा में कार्य करती है। तथा कुछ दवाइयां बड़े और अड़ियल मंडुसी (गुली डंडा) को भी आसानी से नष्ट कर देती हैं। आपको आगे गेहूं में प्रयोग की जाने वाली सभी प्रकार खरपतवार नाशकों के बारे में संपूर्ण जानकारी मिलेगी। किस दवाई का किस समय और कितनी मात्रा में प्रयोग करना है। आगे सम्पूर्ण जानें-

  • एक्सियल सिंजेंटा (axial syngenta)
  • क्लोमेट सवाल (clomet sawal)
  • अटलांटिस बायर (Atlantis bayer)
  • सेंकर बायर (sencor bayer)
  • लीडर सुमितोमो (leader sumitomo)
  • टोपिक सिंजेंटा (Topik syngenta)

गेहूं में कल्ले बढ़ाने के लिए काला सोना के नाम से मशहूर इस दवाई का प्रयोग करें

एक्सियल सिंजेंटा (axial syngenta)

एक्सियल सिंजेंटा इंडिया लिमिटेड द्वारा दिया गया उत्पाद है। इसमें पिनोक्साडेन 5.1 % टेक्निकल पाया जाता है। यह दवाई गेहूं में तीन से पांच पत्ती की मंडुसी (गुली डंडा) को आसानी से नष्ट कर देती है। यह एक गेहूं की एकमात्र ऐसी दवाई है, जो अड़ियल और बड़ी मंडुसी को भी आसानी से नष्ट कर देती है। इसकी 400ml मात्रा प्रति एकड़ प्रयोग की जाती है। इसके साथ अगर आप चाहे तो सेंकर 50g प्रति एकड़ साथ में मिला भी स्प्रे कर सकते है। इसका प्रति एकड़ 700 से 800 रुपये खर्च आता है।

क्लोमेट सवाल (clomet sawal)

क्लॉमेट सवाल इंडिया लिमिटेड का एक उत्पाद है इसमें मेट्रिबुज़िन 42%+ क्लोडिनाफॉप- प्रोपरगिल 12% डब्लूजी टेक्निकल पाया जाता है। यह दवाई गेहूं मेंअड़ियल मंडुसी (गुली डंडा) को आसानी से नष्ट कर देती है। इसके साथ आपको सेंकर मिलाने की जरूरत नहीं पड़ती। यह गेहूं में पांच पत्ती के ऊपर की मंडुसी (गुली डंडा) को भी आसानी से नष्ट करने की क्षमता रखती है। इस दवाई का इस्तेमाल छोटी गेहूं पर नहीं करना चाहिए। इसका प्रति एकड़ 800 से 900 रुपये तक खर्च आता है।

अटलांटिस बायर (Atlantis bayer)

अटलांटिस बायर क्रॉप साइंस का एक प्रोडक्ट है। जो गेहूं में मंडुसी की रोकथाम के लिए मुख्य रूप से प्रयोग किया जाता है। इसमें मेसोसल्फ्यूरॉन मिथाइल 3% + आयोडोसल्फ्यूरॉन मिथाइल सोडियम 0.6 w/w WDG (3.6 WDG) टेक्निकल पाया जाता है। इसका प्रयोग आप गेहूं में सुख और पानी देने के बाद दोनों प्रकार से कर सकते हैं। इसकी 160ml मात्रा प्रति एकड़ प्रयोग की जाती है। यह मंडुसी के साथ अन्य चौड़ी पत्ती वाले खरपतवारों को भी आसानी से खत्म कर देता है। अटलांटिस का मूल्य देखें

सेंकर बायर (sencor bayer)

सेंकर बायर क्रॉप साइंस का एक उत्पाद है। इसमें मेट्रिबुज़िन 70% टेक्निकल पाया जाता है। सेंकर का प्रयोग गेहूं के साथ-साथ गन्ने में भी खरपतवारों को मरने के लिए किया जाता है। सेंकर मंडुसी (गुल्ली डंडा) को जमने से भी रोकते हैं, और जमे हुए मंडुसी (गुली डंडा) को मरने का कार्य करती है। इसको आप किसी और दवाई के साथ मिलकर भी प्रयोग कर सकते हैं। सेंकर 100 ग्राम प्रति एकड़ स्प्रे में प्रयोग की जाती है। और सीधी यूरिया के साथ छिड़काव में यह 100 से 150 ग्राम प्रति एकड़ प्रयोग की जा सकती है। सेंकर का मूल्या देखें।

लीडर सुमितोमो (leader sumitomo)

लीडर सुमितोमो केमिकल इंडिया लिमिटेड का एक उत्पाद है। इसमें सल्फोसल्फ्यूरॉन 75% डब्लूजी टेक्निकल पाया जाता है। यह मुख्य रूप से पानी देने से पहले प्रयोग किया जाता है। लेकिन इसका प्रयोग आप पानी देने ले बाद नमी में भी कर सकते है। यह गेहूं में मंडुसी (गुली डंडा), पालक, बथुआ आदि खरपतवारों को मरने की क्षमता रखता है। इसका प्रति एकड़ 400 से 450 रुपये तक खर्च आता है।

टोपिक सिंजेंटा (topik syngenta)

टॉपिक सिजेंटा इंडिया लिमिटेड का एक उत्पाद है। इसका प्रयोग भी गेहूं में गुल्ली डंडा को मरने के लिए किया जाता है। इसमें क्लोडिनाफॉप प्रोपरगिल 24% ईसी पाया जाता है। लेकिन यह काफी पुराना टेक्निकल हो गया इसलिए यह गेहूं पर इतना अधिक मात्रा में कार्य नहीं करता। लेकिन कुछ किसान इसका प्रयोग सेंकर और अन्य मंडुसी की दूसरी दवाई के साथ मिलकर भी कर सकते है। इसके साथ 100 ग्राम सेंकर प्रति एकड़ मिलकर प्रयोग की जाती है।

आपको इन दवाइयों के रिजल्ट कैसे देखने को मिलते है। कृपा कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं। ताकि दूसरे किसान भी इससे लाभ लें सकें। धन्यवाद!

FAQ

गेहूं की फसल का मुख्य खरपतवार कौन सा है?
गेहूं की फसल में मंडुसी (गुली डंडा) मुख्या रूप से अधिक मात्रा में उगने वाला खरपतवार है। इस खरपतवार की गेहूं से नष्ट करना मुश्किल कार्य होता है।

ये भी पढ़ें – गेहूं में जिंक डालें या नहीं(2023):जानें कृषि सलाहकार इस बारे में क्या कहते है

गेहूं में खरपतवार नासक दवाइओं का प्रयोग कब करें(2023):जरूरी सावधानियां, खरपतवार नासी से गेहूं खराब होने से बचाए

कल्लर जमीन या जल भराव वाले क्षेत्रों के लिए जानी जाती है गेहूं की यह किस्म

गेहूं में पानी कब लगाएं:कितनी बार लगाएं,पानी देने के इस तरीके से पैदावार को बढ़ाएं

गेहूं की पत्तियों बीच से मुड़कर पीलापन आने की समस्या:क्या है कारण, सस्ता इलाज जानें(2023)

Kheti jankari

खेती जानकारी एक ऐसी वेबसाइट है। जिसमें आपको कृषि से जुड़ी जानकारी दी जाती है। यहां आप कृषि, पशुपालन और कृषि यंत्रों से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

2 thoughts on “गेहूं में अड़ियल मंडुसी (गुली डंडा) को भी जड़ से ख़त्म करने की क्षमता रखती है यह खास खरपतवार नाशक दवाई(2024):herbicide to kill weeds in wheat”

  1. हमारे छेत्र में क्लोडीनाफाप प्रोपरगिल का एक पैकेट तथा मैट्रीब्यूज़िन 70% 50 से 100 ग्राम प्रति एकड़ डाली जाती है।जिससे मुंडी और बथुआ गुल्ली डंडा आसानी से मर जाता है

    Reply

Leave a Comment