जल भराव वाले क्षेत्र के लिए विज्ञानकों ने बनाई गन्ना किस्म:सरकार द्वारा स्वीकृत किस्म:new variety of sugarcane

By Kheti jankari

Published on:

जल भराव वाले क्षेत्र के लिए विज्ञानकों ने बनाई गन्ना किस्म

जल भराव वाले क्षेत्र के लिए विज्ञानकों ने बनाई गन्ना किस्म। गन्ने की टॉप किस्म। गन्ने की खेती। गन्ने की अधिक पैदावार देने वाली किस्म। गन्ने की नयी किस्म। सरकार द्वारा स्वीकृत गन्ना किस्म। new variety of sugarcane.

शाहजहांपुर गन्ना शोध केंद्र के वैज्ञानिकों द्वारा बनाई गई गन्ने की नई किस्म:स्टिक पहचान और विशेषताएं जानें

किसान साथियों नमस्कार, हर वर्ष जल भराव के कारण किसानों की फसलों को काफी ज्यादा नुकसान पहुंचता है। कईं क्षेत्रों तो बारिश का पानी इतना ज्यादा भर जाता है, कि वह गन्ने जैसी मर्द खेती को भी नुकसान पहुंचता है। जिन खेतों में जल भराव की समस्या रहती है। ऐसे खेतों में हमें ऐसी किस्म का चुनाव करना चाहिए। जो काफी ठोस हो और अत्यधिक पानी को सहन करने की क्षमता रखती हो। उत्तर प्रदेश के विज्ञानिकों ने एक गन्ना किस्म विकसित की है। जो COS-13231 के नाम से प्रसिद्ध है। यह सरकार द्वारा स्वीकृत गन्ना किस्म है। इस गन्ना किस्म के बारे में संपूर्ण जानकारी के लिए कृपया पूरा लेख पढ़ें।

COS-13231 गन्ना किस्म की विशेषताएं

COS-13231 उत्तर प्रदेश गन्ना अनुसंधान परिषद, शाहजहांपुर की एक गन्ना किस्म है। गन्ने की इस किस्म का गन्ना काफी ठोस होता है। इस किस्म में कल्लों फुटाव भी अच्छा होता है। इस गन्ना किस्म की लंबाई की बात करें, तो इसकी लंबाई 13 से 15 फीट तक आसानी से चली जाती है। ठोस गन्ना होने की वजह से इस किस्म में किसी भी प्रकार के कीट रोग और फंगस रोग नहीं लगते। यह पोका बोईंग, रेड रॉट और टॉप बोरर जैसे रोगों के प्रति सहनशील किस्म है। गन्ने की इस किस्म में पैड़ी का फुटाव बहुत अच्छे से होता है। इस गन्ना किस्म में गिरने की समस्या नहीं रहती। इसकी एक बंधाई में भी काम चल जाता है।

गन्ने में जड़ बेधक का नियंत्रण कैसे करें:गन्ने की ऊपरी पत्तियां पीली होने का कारण

COS-13231 गन्ना किस्म की पहचान

COS-13231 गन्ना किस्म की पत्तियां काफी मुलायम होती हैं, इनके ऊपर किसी प्रकार के कांटे नहीं होते। इस गन्ना किस्म के गन्ने की मोटाई मध्यम होती है। इसकी पोरी लम्बी होती है। इस किस्म की आंख उबारी हुई और गोल होती है। आंख पर हल्के-हल्के पंख भी होते हैं। इसका अगोला गहरे हरे रंग का होता है।

COS-13231 गन्ना किस्म की औसत पैदावार

गन्ना की यह किस्म 300 से 400 क्वांटल प्रति एकड़ तक पैदावार आसानी से दे देती है। लेकिन अगर आप समय पर खाद और पानी का प्रबंधन अच्छे से करते है, तो यह आपको 450 से 500 क्वांटल तक पैदावार भी दे सकती है। इस किस्म की पैड़ी भी पौधा गन्ना जितनी ही पैदावार देती है।

नोट-किसान साथियों अपनी गन्ना को रोगों से बचने के लिए बिजाई के के समय फफूंदीनाशकों और कीटनाशकों से बीज उपचार अवश्य करें।

आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी। कृपया कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं और इसे आगे अन्य किसानों तक अवश्य शेयर करें। धन्यवाद!

ये भी पढ़ें-गन्ने की अधिक पैदावार देने वाली गन्ना किस्म CO–11015 की विशेषताएं जानें

CO-0238 से अधिक पैदावार निकाल कर देती है गन्ने की यह अगेती किस्म

65 दिन में तैयार होगी गेहूं की फसल:वैज्ञानिकों रहे है नई तकनीक का बीज तैयार

गन्ना बिजाई से पहले मिट्टी शोधन जरूरी:भूमि उपचार के क्या फायदे:कृषि वैज्ञानिकों की सलाह

Kheti jankari

खेती जानकारी एक ऐसी वेबसाइट है। जिसमें आपको कृषि से जुड़ी जानकारी दी जाती है। यहां आप कृषि, पशुपालन और कृषि यंत्रों से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Leave a Comment