65 दिन में तैयार होगी गेहूं की फसल:वैज्ञानिकों रहे है नई तकनीक का बीज तैयार:What is excel breed lab

By Kheti jankari

Published on:

65 दिन में तैयार होगी गेहूं की फसल

65 दिन में तैयार होगी गेहूं की फसल। गेहूं की फसल। गेहूं में क्रन्तिकारी बदलाब। गेहूं से अधिक पैदावार कैसे लें। गेहूं की वैज्ञानिक खेती। 60 से 65 दिन में तैयार होने वाली गेहूं किस्म। वैज्ञानिकों रहे है नई तकनीक का बीज तैयार। What is excel breed lab.

गेहूं में बोरोन का प्रयोग:बोरोन पैदावार बढ़ाने में कैसे मदद करती है, कब प्रयोग करें

किसान साथियों नमस्कार, गेहूं की फसल पकने में लगभग 155 से 160 दिन का समय लेती है। लेकिन पंजाब एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक एक ऐसी तकनीक पर काम कर रहे हैं। जिसमें गेहूं के ऐसे बीजों का निर्माण होगा जो 60 से 65 दिन में पैक कर तैयार हो जाएंगे। इसके लिए पंजाब एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी में एक एक्सेल ब्रीड लैब (excel breed lab) तैयार की है। इस लैब में वैज्ञानिक गेहूं की कम समय में पकने वाली नयी किस्म पर रिसर्च करेंगे और उनको तैयार करके किसानों तक पहुंचाने का काम करेंगे। जिससे किसानों की आमदनी को बढ़ाया जा सके।

एक्सेल ब्रेड लैब (excel breed lab) क्या है

पंजाब कृषि विश्वविद्यालय के शोध संस्थान ने अपने विद्यालय में एक ऐसी लैब का निर्माण किया है। जो गेहूं के ऐसे बीजों का निर्माण करेगी जो कम समय में पैक कर तैयार होते हैं। इस लैब में तैयार गेहूं के बीच 60 से 65 दिन में पैक कर तैयार हो जाएंगे और उनकी पैदावार भी 150 से 55 दिन में पकाने वाले बीजों के मुकाबले अधिक होगी। वैज्ञानिक आगे ऐसी नई-नई किस्म की खोज करने में लगे हुए हैं। एक्सेल ब्रीड लैब पूरे भारत में एक ही बनाई है, और वह भी पंजाब एग्रीकल्चर कृषि विश्वविद्यालय में स्थापित की गई है। इसका उद्घाटन हो गया है।

गेहूं में सस्ता स्प्रे और शानदार पैदावार:कृषि वैज्ञानिक ने बताई महत्पूर्ण बातें

एक्सेल ब्रीड लैब (excel breed lab) के किसानों को लाभ

इससे किसानों के लिए ऐसी किस्म का निर्माण होगा। जो कम समय में पकेंगे और पुरे समय में पकने वाली किस्मों के बराबर ही पैदावार निकाल कर देंगे। बढ़ती जनसंख्या के कारण आने वाले समय में अनाज की अधिक आवश्यकता पड़ेगी। जिसको पूरा करने के लिए ऐसी किस्म का निर्माण किया जा रहा है। इन किस्म से आप गेहूं की फसल को साल में दो बार ले सकते हैं। इन किस्मों के तैयार होने से किसानों का फसल पर खर्च घटेगा और उसकी आय बढ़ेगी।

नोट-यह जानकारी मैंने सोशल मीडिया से ली गई है। आगे इसके बारे में कुछ भी पता लगेगा तो मैं आपके साथ जरूर शेयर करूंगा।

आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी। कृपया कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं और इसे आगे अन्य किसानों तक भी अवश्य शेयर करें। धन्यवाद!

ये भी पढ़ें- गेहूं की गोभ अवस्था में अराइज एग्रो लिमिटेड के इस उत्पाद का करें प्रयोग:गेहूं के लिए सबसे दमदार चीज

गेहूं में बुवाई के समय पोटाश नहीं डाला:तो क्या करें:इस समय स्प्रे करें ये मिटटी में डालें

गेहूं में बुवाई के समय पोटाश नहीं डाला:तो क्या करें:इस समय स्प्रे करें ये मिटटी में डालें

गेहूं में कितने दिन तक यूरिया का प्रयोग करें:बाद में करने का कितना नुकसान

Kheti jankari

खेती जानकारी एक ऐसी वेबसाइट है। जिसमें आपको कृषि से जुड़ी जानकारी दी जाती है। यहां आप कृषि, पशुपालन और कृषि यंत्रों से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Leave a Comment