गेहूं में कितने दिन तक यूरिया का प्रयोग करें:बाद में करने का कितना नुकसान:Disadvantages of giving wheat late urea

By Kheti jankari

Published on:

गेहूं में कितने दिन तक यूरिया का प्रयोग करें

गेहूं में कितने दिन तक यूरिया का प्रयोग करें। गेहूं की खेती। गेहूं में यूरिया। गेहूं में अधिक पैदावार के लिए क्या करें। गेहूं में कितने दिन तक यूरिया का प्रयोग करें। गेहूं लेट यूरिया देने के नुकसान। Disadvantages of giving wheat late urea.

गेहूं की बाली में दानों की संख्या और दानों का वजन बढ़ाने के लिए करें ये स्प्रे

गेहूं में किसान भाई आमतौर पर अपने यूरिया को तीन भागों में बांटकर अपने खेत में डालते हैं। इसमें वह दो से तीन बैग यूरिया का इस्तेमाल कर सकते हैं। कुछ क्षेत्रों में तो किसान भाई तीन बैग से अधिक यूरिया भी डाल देते हैं। किसान साथियों यूरिया की अधिक मात्रा में प्रयोग नहीं करना चाहिए। इसके आपको कुछ नुकसान भी उठाने पड़ सकते हैं। कृषि वैज्ञानिक गेहूं में यूरिया की कितनी मात्रा और किस समय तक देने के लिए बोलते हैं। इस बारे में संपूर्ण जानकारी आप नीचे जानें-

गेहूं में कितने दिन तक यूरिया का प्रयोग करें

आमतौर पर कुछ किसान साथी बिजाई के समय यूरिया का प्रयोग नहीं कर पाते और वह अपनी यूरिया की पहली मात्रा को पहली सिंचाई के समय यानी 20 से 25 दिन पर शुरू करते हैं। और वह लेट तक भी यूरिया का प्रयोग करते रहते हैं। हमें अपनी गेहूं की फसल में 60 दिन के बाद यूरिया का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इससे गेहूं की फसल को नुकसान उठाना पढ़ सकता है। 60 दिन के बाद आपकी गेहूं की फसल गोभ अवस्था में आ जाती है। और बालियां निकलने की प्रक्रिया शुरू कर देती है।

गेहूं में आखिरी खाद:वजनदार दानों के लिए यूरिया के साथ क्या मिलाए किसान

गेहूं लेट यूरिया देने के नुकसान

अगर आप गेहूं में 60 दिन के बाद यूरिया का इस्तेमाल करते हैं। तो इसके आपको कुछ नुकसान भी उठाने पड़ सकते हैं। जो नीचे बताए गए हैं-

  • 60 दिन के बाद यूरिया आपकी फसल की लंबाई को बढ़ा देगा और फसल गिरकर अपना पैदावार घट सकती है।
  • दूसरा अगर आप अधिक मात्रा में यूरिया का इस्तेमाल करते हैं। तो इसकी इससे आपकी फसल में फंगस और कीट रोग भी अधिक मात्रा में लगेंगे। क्योंकि यूरिया आपकी फसल को नरम बना देता है।
  • अधिक यूरिया का इस्तेमाल से आपकी जमीन की उपजाऊ शक्ति भी घटती है। क्योंकि यूरिया केमिकल फर्टिलाइजर है। जो भूमि के आर्गेनिक कार्बन को कम कर देते है।
  • तीसरा अधिक यूरिया के इस्तेमाल से आपका फसल पर खर्च भी बढ़ जाता है। जिससे आपको आर्थिक नुकसान भी होता है।

किसान साथियों आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी। कृपा कमेंट के माध्यम से मुझे जरूर बताएं और इसे आगे दूसरे किसानों तक भी अवश्य शेयर करें। धन्यवाद!

ये भी पढ़ें- गेहूं में खरपतवार नाशकों का प्रयोग कितने दिन तक कर सकते हैं:क्या कहते है कृषि जानकर

गेहूं में पैदावार बढ़ाने वाला PGR:कृषि वैज्ञानिक की सलाह:वृद्धि नियंत्रक का प्रयोग कब और कैसे करें, संपूर्ण जाने

गेहूं में प्रयोग होने वाले सस्ते और टॉप फंगीसाइड के बारे में जानें

गेहूं में गुड़ के साथ डालें ये शानदार चीज:कल्लों की फुटाव और बढ़वार का बेस्ट तरीका

Kheti jankari

खेती जानकारी एक ऐसी वेबसाइट है। जिसमें आपको कृषि से जुड़ी जानकारी दी जाती है। यहां आप कृषि, पशुपालन और कृषि यंत्रों से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Leave a Comment