गेहूं में एनपीके, बोरोन और फंगीसाइड को मिक्स करके स्प्रे कर सकते हैं, या नहीं:क्या कहते हैं कृषि जानकारी:Correct way to mix NPK Boron and fungicide

By Kheti jankari

Published on:

गेहूं में एनपीके

गेहूं में एनपीके, बोरोन और फंगीसाइड को मिक्स करके स्प्रे कर सकते हैं, या नहीं। एनपीके, बोरोन और फंगीसाइड मिक्स करने का सही तरीका। गेहूं की खेती। गेहूं की फसल। गेहूं में फंगीसाइड। गेहूं में एनपीके का स्प्रे। गेहूं में खादों का प्रयोग। Correct way to mix NPK, Boron and fungicide.

गेहूं में दोगुने कल्ले और लंबी बाली के लिए पानी के साथ डालें ये तीन खाद:अनुभवी किसान का फार्मूला

किसान साथियों नमस्कार, गेहूं में किसान भाई एनपीके और बोरोन का स्प्रे करते हैं। एनपीके हमारी फसल की बड़वार के लिए आवश्यक होता है। वहीँ बोरोन फलों और फूलों को झड़ने से रोकता है। एनपीके का इस्तेमाल अलग-अलग स्टेज में अलग-अलग होता है। एनपीके-05234 बाली निकलने से पहले और एनपीके-0050 बाली निकलने के बाद आमतौर पर प्रयोग किए जाते हैं। कुछ किसान साथियों के अक्सर यह सवाल पूछते हैं, कि क्या हम एनपीके और बोरोन के साथ फंगीसाइड को मिक्स कर सकते हैं। क्योंकि खेती में आजकल लेबर की समस्या रहती ही है, तो किसान एक ही बार में सभी चीजों का स्प्रे करके अपना खर्च और समय दोनों बचाने के बारे में सोचते है। ताकि उसको दोबारा स्प्रे ना करना पढ़े। एनपीके, बोरोन और फंगीसाइड एक साथ मिलकर स्प्रे किया जा है। लेकिन आपको कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है।

गेहूं में एनपीके, बोरोन और फंगीसाइड मिक्स करने का सही तरीका

एनपीके, बोरोन और फंगीसाइड को आपस में मिक्स करके गेहूं की फसल में स्प्रे कर सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना पड़ेगा, नहीं तो आपकी फसल को यह नुकसान भी पहुंचा सकते हैं। ये कुछ बातें नीचे बताई गयी है –

गेहूं में समय से पहले बालियाँ निकालने का मुख्य कारण(2023):उत्पादन पर कितना असर, कृषि विज्ञानकों ने दी ये सलाह

  • जब भी आप एनपीके, बोरोन और फंगीसाइड को मिक्स करते हैं। तो आपको एनपीके और बोरोन को तरल फार्म में लेना है।
  • एनपीके, बोरोन और फंगीसाइड का आपको अलग-अलग घोल बनाकर, इन्हें टंकी में मिक्स करें। इन तीनो का एक साथ घोल न बनायें।
  • एनपीके और बोरोन के साथ आपको कोई भी हार्ड फंगीसाइड का प्रयोग नहीं करना है। जैसे-कॉपर ऑक्सीक्लोराइड, कॉपर सल्फेट या टेबुकोनाज़ोल जैसे फंगीसाइड का स्प्रे नहीं करना। इसमें आप हल्के फंगीसाइड इस्तेमाल कर सकते हैं। जो फसलों पर किसी प्रकार की स्ट्रेस नहीं देते।
  • अगर आपके पानी का टीडीएस अधिक है। तो आप एनपीके, बोरोन और फंगीसाइड की मात्रा को कम करें ताकि वह पानी में पूरी तरह से घुल सकें।
  • इन तीनों को एक साथ स्प्रे करते समय 150 से 200 लीटर अपनी प्रति एकड़ प्रयोग करना है।

नोट-ऊपर दी गई बातों को ध्यान में रखकर अगर आप अपनी फसल में इन सब को मिलाकर स्प्रे करते हैं। तो आपकी फसल को किसी भी प्रकार का कोई नुकसान नहीं होगा।

आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी। कृपया कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं और इसे आगे दूसरे किसानों तक अवश्य शेयर करें। धन्यवाद!

ये भी पढ़ें – गेहूं की पैदावार बढ़ाने के लिए आपको इन तीन पत्तियों का हरा रखना जरूरी है:गेहूं की पैदावार तीन पत्तियों पर निर्भर करती है

गेहूं में दूसरी सिंचाई:कल्ले नहीं बने, डालें ये दमदार खाद:पीलापन खत्म करने का सही समय

गेहूं में जिंक और सल्फर का प्रयोग एक साथ नहीं किया:तो सब कुछ फेल, जानें क्या कहते है कृषि जानकर

गेहूं में प्रयोग होने वाली एक्सियल खरपतवार नासी की चार खास बातें शायद किसानों को नहीं पता होंगी

Kheti jankari

खेती जानकारी एक ऐसी वेबसाइट है। जिसमें आपको कृषि से जुड़ी जानकारी दी जाती है। यहां आप कृषि, पशुपालन और कृषि यंत्रों से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Leave a Comment