गेहूं में दोगुने कल्ले और लंबी बाली के लिए पानी के साथ डालें ये तीन खाद:अनुभवी किसान का फार्मूला:Main fertilizers used in wheat

By Kheti jankari

Updated on:

गेहूं में दोगुने कल्ले और लंबी बाली के लिए पानी के साथ डालें ये तीन खाद

गेहूं में दोगुने कल्ले और लंबी बाली के लिए पानी के साथ डालें ये तीन खाद। गेहूं में प्रयोग होने वाले मुख्य खाद। गेहूं में खाद। गेहूं की खेती। गेहूं में अधिक पैदावार के लिए क्या करें। पैदावार बढ़ाने वाला तरीका। Main fertilizers used in wheat.

गेहूं में समय से पहले बालियाँ निकालने का मुख्य कारण(2023):उत्पादन पर कितना असर, कृषि विज्ञानकों ने दी ये सलाह

गेहूं में जितने अधिक कल्ले होंगे। उतनी ही अधिक उनमें बालियाँ निकलेगी। अगर कल्ले मोटे और मजबूत होंगे, तो उनमें भी बाली भी उतनी ही मोटी निकलते हैं। गेहूं में अधिक फुटाव के लिए किसान भाई समय-समय पर पानी और खातों का इस्तेमाल करते हैं। समय पर पानी और खाद देने से ही गेहूं में अच्छा फुटाव और हरियाली बनी रहती है। किसान साथियों आगे हम गेहूं में कल्लों संख्या बढ़ाने और उसमें प्रत्येक कल्ले में स्वस्थ बाली निकले। इसके लिए कुछ खादों के बारे में बताएँगे। इन खादों का प्रयोग करके आप अपनी फसल दे अधिक पैदावार ले सकते है।

गेहूं में प्रयोग होने वाले मुख्य खाद

गेहूं में अधिक कल्लों के फुटाव के लिए आप नीचे बताए गए, तीन खादों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इन खादों को आप पानी से पहले या बाद में भी प्रयोग कर सकते है। अगर आप पानी के बाद प्रयोग करते हो तो खेत में पर्याप्त नमी होनी चाहिए। तभी आपको इन खादों के अच्छे रिजल्ट देखने को मिलेंगे। इनको आप यूरिया या फिर रेत में मिलकर अपने खेत में डाल सकते हैं।

गेहूं में एनपीके, बोरोन और फंगीसाइड को मिक्स करके स्प्रे कर सकते हैं, या नहीं:क्या कहते हैं कृषि जानकारी

  • पहले खाद में आपको सागरिका 10 किलोग्राम प्रति एकड़ लेनी है। सागरिका में माइक्रोन्यूट्रिएंट्स जैसे आयरन, मॉलीब्लेडिनम, तांबा, लोहा और सीवीड आदि तत्व पाए जाते हैं। जो पौधे के फुटाव लिए बहुत ज्यादा आवश्यक होते हैं।
  • दूसरे खाद में जिंक सल्फेट और मैग्नीशियम सल्फेट का प्रयोग कर सकते हैं। जिंक सल्फेट और मैग्नीशियम सल्फेट पौधे में हरापन लाने का काम करते है, और उनके साथ इन सल्फर भी पाई जाती है। तो आपको सल्फर भी मिल जाती है।
  • तीसरी खाद में आपको ह्यूमिक एसिड 98% वाला 1 किलोग्राम प्रति एकड़ या फिर ट्राईकैंटोनाल 5 किलोग्राम प्रति एकड़ के हिसाब से प्रयोग कर सकते हैं। ये दोनों खाद आपको दानेदार लेने है। यह आपके पौधे में प्रकाश संश्लेषण की क्रिया को बढ़ाते हैं, और पौधे में अधिक फुटाव होता है।

ऊपर बताए गए इन तीनों खादों को आप आपस में मिलकर उनको यूरिया के साथ मिलाकर प्रयोग कर सकते हैं। अगर आप ने यूरिया नहीं देना चाहते, तो आप रेत में मिलाकर भी प्रयोग कर सकते हैं। यह सब डालने से निश्चित ही आपकी गेहूं की फसल में अधिक कल्लों का फुटाव होगा और बालियां में दाने भी अधिक बनेंगे।

आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी, कृपया कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं और इसे दूसरे किसानों तक भी अवश्य शेयर करें। धन्यवाद!

FAQ

सबसे अच्छा यूरिया खाद कौन सा है?
सबसे अच्छा दानेदार यूरिया होता है। मोटा या बारीक़ दोनों यूरिया का रिजल्ट एक जैसा ही होता है। तरल यूरिया के किसानो को इतने अच्छे रिजल्ट देखने को नहीं मिलते।

ये भी पढ़ें – गेहूं की पैदावार बढ़ाने के लिए आपको इन तीन पत्तियों का हरा रखना जरूरी है:गेहूं की पैदावार तीन पत्तियों पर निर्भर करती है

गेहूं में कद रोकने वाली दवाई का प्रयोग करना चाहिए:क्या कहते हैं कृषि वैज्ञानिक, अनुभवी किसानों की राय जानें

गेहूं में सब कुछ डालने के बाद भी कल्ले नहीं बने:ये है मुख्य कारण, डालें ये जरूरी खाद

गेहूं में मैग्नीशियम का प्रयोग करें या ना करें(2023):मैग्नीशियम पौधे के लिए क्यों जरूरी है

Kheti jankari

खेती जानकारी एक ऐसी वेबसाइट है। जिसमें आपको कृषि से जुड़ी जानकारी दी जाती है। यहां आप कृषि, पशुपालन और कृषि यंत्रों से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Leave a Comment