काली मिट्टी में सबसे अच्छी पैदावार निकाल कर देती है, मक्का की यह किस्म:best variety of maize

By Kheti jankari

Published on:

काली मिट्टी में सबसे अच्छी पैदावार निकाल कर देती है, मक्का की यह किस्म

काली मिट्टी में सबसे अच्छी पैदावार निकाल कर देती है, मक्का की यह किस्म। मक्का की खेती। मक्का की उन्नत किस्म। सिंजेंटा सीड्स की मक्का किस्म। अधिक पैदावार देने वाली क[मक्का किस्म। S-6668 मक्का किस्म। best variety of maize.

मक्का की इस किस्म से होगा तगड़ा मुनाफा:अधिक पैदावार, कम समय में पकने वाली किस्म

किसान साथियों नमस्कार, मक्का की बिजाई लगभग पूरे भारत में की जाती है। मक्का की अलग-अलग कंपनियों द्वारा अलग-अलग किस्में बाजार में बेची जाती है। यह ऐसी किस्म जो काली मिट्टी में काफी अच्छी पैदावार निकाल कर देती है। यह किस्म सन्जेंटा सीड्स द्वारा दी जाती है। यह किस्म S-6668 के नाम से प्रसिद्ध है। मक्का की यह किस्म हल्की मिट्टी में ज्यादा इतनी अच्छी पैदावार निकाल कर नहीं देती। मक्का की इस किस्म के बारे में संपूर्ण जानकारी के लिए कृपया पूरा आर्टिकल पढ़ें।

S-6668 मक्का किस्म की विशेषताएं

S-6668 सन्जेंटा सीड्स द्वारा बनाई गई मक्का की एक हाइब्रिड किस्म है। यह किस्म काली मिट्टी में बिजाई के लिए सबसे उपयुक्त है। इस किस्म के पौधे मजबूत होते हैं, और यह गिरने के प्रति सहनशील होते हैं। इस किस्म के भुट्टे का रंग नारंगी होता है। इसके एक पौधे पर लगभग दो भुट्टे आसानी से निकल आते हैं।

पायनियर सीड्स की सबसे अच्छी हाइब्रिड मक्का किस्म

S-6668 मक्का किस्म की औसत पैदावार

मक्का की यह किस्म आपको 30 से 35 क्वांटल प्रति एकड़ तक पैदावार आसानी से निकाल कर दे देती है। यदि आप उसमें गोबर की खाद और रासायनिक खादों को बराबर मात्रा में प्रयोग करते हैं। तो आप इसे 40 क्वांटल प्रति एकड़ तक की पैदावार भी ले सकते हैं।

S-6668 मक्का किस्म का पकाने का समय

मक्का की यह किस्म पकाने में लगभग 110 से 120 दिन का समय लेती है। यह गर्मी के मौसम में 5 से 10 दिन जल्दी पक जाती है।

S-6668 मक्का किस्म का बीज मात्रा

मक्के की इस किस्म की 7 से 8 किलोग्राम बीज प्रति एकड़ बिजाई की जाती है। इस किस्म की बिजाई करते समय लाइन से लाइन की दूरी 45 से 50 सेंटीमीटर और पौधे से पौधे की दूरी 15 सेंटीमीटर रखती आवश्यक है।

नोट- मक्का की बिजाई करते समय करने से पहले बीज उपचार आवश्यक कर लें। बीज उपचार फफूंदी नाशक और कीटनाशक दोनों से करें।

आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी। कृपया कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं और इसे आगे अन्य किसानों तक अवश्य शेयर करें। धन्यवाद!

ये भी पढ़ें- मक्का की वैज्ञानिक खेती:अधिक पैदावार के लिए कब बुवाई करें, क्या खाद डालें, संपूर्ण जाने

15 दिन में आलू का साइज डबल करने के लिए सबसे दमदार स्प्रे

जल भराव वाले क्षेत्रों में तहलका मचाएगी गन्ने की यह किस्म

गेहूं में बुवाई के समय पोटाश नहीं डाला:तो क्या करें:इस समय स्प्रे करें ये मिटटी में डालें

Kheti jankari

खेती जानकारी एक ऐसी वेबसाइट है। जिसमें आपको कृषि से जुड़ी जानकारी दी जाती है। यहां आप कृषि, पशुपालन और कृषि यंत्रों से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Leave a Comment