गेहूं में कद रोकने वाली दवाई का प्रयोग करना चाहिए:क्या कहते हैं कृषि वैज्ञानिक, अनुभवी किसानों की राय जानें:Agricultural scientist’s suggestions for use in wheat

By Kheti jankari

Updated on:

गेहूं में कद रोकने वाली दवाई का प्रयोग करना चाहिए

गेहूं में कद रोकने वाली दवाई का प्रयोग करना चाहिए। गेहूं में प्रयोग के लिय कृषि वैज्ञानिक के सुझाव। अनुभवी किसान इस बारे में क्या कहते है। पैक्लोबुट्राजोल 23% एससी, मेपिक्वाट क्लोराइड 5% एएस, क्लोरमेक्वेट क्लोराइड 50% एसएल। गेहूं की खेती। गेहूं में अधिक पैदावार लेने वाली दवाई।

गेहूं में सब कुछ डालने के बाद भी कल्ले नहीं बने:ये है मुख्य कारण, डालें ये जरूरी खाद

आजकल कद रोकने वाली दवाई का चालान काफी बढ़ गया है। किसान धान और आलू के साथ-साथ अब गेहूं में भी कद रोकने वाली दवाई का इस्तेमाल करने लगे हैं। आलू और धान में इस दवाई के अच्छे रिजल्ट देखने को मिलते है। कद रोकने वाली दवाई आपकी फसल पर किस प्रकार का असर करती है, और क्या यह आपकी फसल के लिए फायदेमंद है। इसका मूल्या क्या है। इन सब के बारे में संपूर्ण चर्चा आज हम इस लेख में करेंगे। यह सब जानने के लिए पूरा लेख पढ़ें।

गेहूं में प्रयोग के लिय कृषि वैज्ञानिक के सुझाव

गेहूं की जो नई किस्में विकसित की गई है। जिसमें DBW-303, 187, 222, 327 और WH-1270 आदि किस्मों में वैज्ञानिक इस दवाई का प्रयोग करने के लिए आम तौर पर बोलते हैं। कृषि वैज्ञानिकों का कहना है, कि इस दवाई के प्रयोग से आप अपने गेहूं की फसल को फसल की पैदावार को बढ़ा सकते हैं। यह दवाई आपकी गेहूं में लंबाई को कम कर देती है। जिससे गेहूं गिरती नहीं है। और वह अधिक पैदावार देती है। कृषि वैज्ञानिक इस दवाई को 60 दिन और 100 दिन पर दो बार प्रयोग करने के लिए बोलते हैं। अगर आप इस दवाई का प्रयोग करना चाहते हैं, तो आप 60 दिन के बाद इस दवाई का इस्तेमाल अपनी गेहूं की फसल पर कर सकते है।

गेहूं में जिंक और सल्फर का प्रयोग एक साथ नहीं किया:तो सब कुछ फेल, जानें क्या कहते है कृषि जानकर

अनुभवी किसान इस बारे में क्या कहते है

जब कुछ किसानों से बात की तो उन्होंने बताया कि जिन खेतों में हमने इस दवाई का प्रयोग किया था, उसे खेत में भी गेहूं गिरी जैसे अन्य खेतों में गेहूं गिरी थी। अगले वर्ष जब इस दवाई का स्प्रे किया गया, तो जैसे दूसरे खेतों में जिनमें स्प्रे नहीं किया गया था। वैसे ही परिणाम देखने को मिले। तो किसानों के अनुभव और मेरे हिसाब से इस दवाई को गेहूं में करने के आपको कोई ज्यादा लाभ देखने को नहीं मिलेंगे। इसलिए अगर आप इस दवाई का इस्तेमाल करना चाहते हो, तो कर सकते है। लेकिन एक या दो एकड़ में ही प्रयोग करें। अगर आपको इसके रिजल्ट अच्छे मिले तभी अधिक खेतों में स्प्रे करें।

गेहूं में कद रोकने वाली दवाइयां में मुख्यतः तीन टेक्निकल पाए जाते हैं-

  1. पैक्लोबुट्राजोल 23% एससी
  2. मेपिक्वाट क्लोराइड 5% एएस
  3.  क्लोरमेक्वेट क्लोराइड 50% एसएल 

किसान साथियों अगर आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी, तो कृपा कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं और दूसरे किसानों तक भी इसे शेयर करें। ताकि दूसरे किसान भी से लाभ ले सकें। धन्यवाद!

FAQ

गेहूं की फसल पीली पड़ने का क्या कारण है?
गेहूं पीली कईं कारणों से पड़ती है। अधिक पानी देने से, खरपतवारों नासकों क्र प्रयोग से, नूट्रिएशन्स की कमी से और गेहूं में अगर कोई रोग लग गया है उसके कारण भी गेहूं पीली हो जाती है।

ये भी पढ़ें – गेहूं में मैग्नीशियम का प्रयोग करें या ना करें(2023):मैग्नीशियम पौधे के लिए क्यों जरूरी है

गेहूं में जिंक डालने के बाद भी जिंक की कमी पूरी नहीं हुई(2023):ये हैं मुख्या कारण

गेहूं में माइकोराइजा का प्रयोग करें या ना करें:क्या यह कल्ले बढ़ाने के लिए सबसे अच्छा उत्पाद है, क्या कहते हैं कृषि सलाहकार, संपूर्ण जानकारी

गेहूं की पत्तियों का खराब होना:नीचे की पत्तियां पर धब्बे और सुख जाना, मुख्य कारण और उपचार जानें

Kheti jankari

खेती जानकारी एक ऐसी वेबसाइट है। जिसमें आपको कृषि से जुड़ी जानकारी दी जाती है। यहां आप कृषि, पशुपालन और कृषि यंत्रों से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Leave a Comment