गेहूं में किस समय कौन से एनपीके का स्प्रे करें:गेहूं की ग्रोथ के लिए सबसे सस्ता स्प्रे:Use of NPK in wheat

By Kheti jankari

Published on:

गेहूं में किस समय कौन से एनपीके का स्प्रे करें

गेहूं में किस समय कौन से एनपीके का स्प्रे करें। कृषि जानकर की सलाह। गेहूं की ग्रोथ के लिए सबसे सस्ता स्प्रे। गेहूं की खेती। गेहूं में खाद। एनपीके क्या है। गेहूं में एनपीके का प्रयोग। गेहूं के कल्ले कैसे बढ़ाएं। Use of NPK in wheat

गेहूं की पत्तियों बीच से मुड़कर पीलापन आने की समस्या:क्या है कारण, सस्ता इलाज जानें

फसल को अनेक अवस्था में अलग-अलग पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है। पोषक तत्वों का अलग-अलग अवस्थाओं में अलग-अलग कार्य होता है। जैसे पोटाश का दाने भरने के समय अत्यधिक मात्रा में आवश्यकता होती है। इस तरह से फास्फोरस की कल्ले बनने के समय और बालियाँ बनने के समय अधिक आवश्यकता होती है। नाइट्रोजन की आवश्यकता पौधे को बढ़वार के लिए ज्यादा पड़ती है. इसलिए हमें अलग-अलग अवस्थाओं में अलग-अलग तत्वों या एनपीके का स्प्रे करना चाहिए। हमें किस समय कौन सा स्प्रे करना चाहिए इस बारे में संपूर्ण जानकारी आप इस लेख में प्राप्त करेंगे। कृपा पूरा पढ़ें-

एनपीके क्या है

एनपीके नाइट्रोजन फास्फोरस और पोटाश का एक मिश्रण होता है। यह स्प्रे के लिए और मिट्टी में मिलने के लिए दोनों प्रकार से बाजार में उपलब्ध होता है। स्प्रे में प्रयोग होने वाले एनपीके 1 किलो की मात्रा बाजार में देखने को मिल जाती है। और खाद के रूप में प्रयोग किये जाने वाले एनपीके की 50 किलोग्राम की बोरी आपको बाजार में देखने को मिलती है। जैसे एनपीके 12-32-16, एनपीके 16-16-16 और स्प्रे वाले एनपीके में आपको एनपीके 19-19-19, एनपीके 00-52-34, एनपीके 00-00-50, एनपीके 13-00-45 और एनपीके 12-61-00 आदि प्रमुख एनपीके की फॉर्म आपको बाजार में देखने को मिल जाती हैं।

गेहूं में कल्लों की संख्या कैसे बढ़ाएं:किसानों द्वारा प्रयोग किये जानें वाले दो आसान तरिके जानें

गेहूं में एनपीके का प्रयोग

गेहूं में अलग-अलग अवस्था में अलग-अलग एनपीके का इस्तेमाल किया जाता है। गेहूं की प्रारंभिक अवस्था में हमें एनपीके 19-19-19 का प्रयोग करना चाहिए। इस एनपीके का प्रयोग आप 40 दिन की अवस्था तक कर सकते हैं। 40 दिन से 60 दिन तक आप अपनी गेहूं की फसल में एनपीके 12-61-00 का स्प्रे करें। 60 से 90 दिन की जब आपकी गेहूं की फसल हो, तो उसमें एनपीके 00-52-34 का स्प्रे करें। बालियां निकलने के बाद आप एनपीके 00-00-50 का इस्तेमाल कर सकते है। अगर आप ऊपर दिए गए तरीकों से एनपीके का इस्तेमाल करते हैं, तो इसका आपकी फसल को पूरा लाभ देखने को मिलता है। कल्लों के फुटाव के साथ-साथ अच्छी पैदावार भी मिलेगी। क्योंकि फसल को जिस समय जी खाद की आवश्यकता होती है। उसके हिसाब से ही इन एनपीके को बनाया जाता है। उसके हिसाब से ही इनका प्रयोग करना चाहिए।

आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी। कृपया कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं और इसे अन्य दूसरे किसानों तक भी अवश्य शेयर करें। धन्यवाद!

FAQ

क्या एनपीके गेहूं के लिए अच्छा है?
एनपीके गेहूं के कल्लों को बढ़ाने का काम करता है। यह गेहूं के लिए सबसे अच्छा उत्पाद है।

ये भी पढ़ें – गेहूं में जड़ों के विकास के लिए माइकोराइजा डालें या ह्यूमिक एसिड, दोनों में क्या अंतर है

गेहूं में एनपीके, बोरोन और फंगीसाइड को मिक्स करके स्प्रे कर सकते हैं, या नहीं:क्या कहते हैं कृषि जानकारी

गेहूं में समय से पहले बालियाँ निकालने का मुख्य कारण(2023):उत्पादन पर कितना असर, कृषि विज्ञानकों ने दी ये सलाह

गेहूं में मैग्नीशियम का प्रयोग करें या ना करें(2024):मैग्नीशियम पौधे के लिए क्यों जरूरी है

Kheti jankari

खेती जानकारी एक ऐसी वेबसाइट है। जिसमें आपको कृषि से जुड़ी जानकारी दी जाती है। यहां आप कृषि, पशुपालन और कृषि यंत्रों से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Leave a Comment